कृषि विज्ञान केन्द्र, पाहंदा (अ) दुर्ग की वेबसाइट में आपका स्वागत है.......
KGyan

Mandates / Activities

1. Assessment, refinement and demonstration of technology/ methodology/products.
2. Collaborate with the State Agricultural University the state extension personnel in "On-farming testing", refining and documenting the technologies for developing region specific sustainable land use systems.
3. Organize trainings to update the extension personnel within the area of operation with emerging advances in agricultural research on regular basis.
4. Organize long-term vocational training courses in agriculture and allied vocations for the rural youths with emphasis on "learning by doing " for generating self-employment through institutional financing.
5. Organize front-line demonstrations in various crops to generate production data and feedback information

Activities

1. On farm testing to identify the location specificity of technologies in various farming systems
2.Frontline demonstrations to establish production potentials of newly released technologies on farmers’ fields and provide feedback.
3.Training of farmers and farmwomen to update their knowledge and skills in modern agricultural technologies and training of extension personnel to orient them in the frontier areas of technology development.
4.Work as resources and knowledge centre of agricultural technology for supporting initiatives of public, private and voluntary sector for improving the agricultural economy of the district.
5.Create awareness about frontier technologies through large number of extension activities like Farmer fair, Field day, Strategic campaign, Ex-trainees meet, etc.
6.The seed and planting materials produce by the KVKs also be made available to the farmers.

Action Plan 2019-20

Upcoming events Please Wait......

Welcome to Krishi Vigyan Kendra, Pahanda (A) Durg (C.G.)

कृषि विज्ञान केन्द्र पाहंदा (अ) दुर्ग..... एक परिचय

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, आईसीएआर नई दिल्ली ने मार्च 2017 में इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय विद्यालय को एक कृषि विज्ञान केंद्र को मंजूरी दी। कृषि विज्ञान केंद्र गांव पाहंदा (अ) ब्लॉक.पाटन  जिला दुर्ग, सीजी में स्थित है। कृषि विज्ञान केंद्र, जिला- जिला पंचायत, कृषि विभाग,उद्यानिकी विभाग, मत्स्य विभाग, और गैर सरकारी संगठन व लीड बैंक के सहयोग से दुर्ग अपने सतत कार्यक्रमों में कृषि उत्पादन और उत्पादकता में सुधार के लिए अपने विभिन्न कार्यक्रमों और गतिविधियों के माध्यम से विनम्र योगदान दे रहा है। 

कृषि विज्ञान केंद्र, दुर्ग एक जिला स्तर के फार्म साइंस केंद्र है जो भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद]आईसीएआर, नई दिल्ली द्वारा प्रायोजित है, इंदिरा गांधी कृषि विद्यालय रायपुर द्वारा ग्राम पाहंदा (अ) ब्लॉक.पाटन, जिला दुर्ग में स्थापित है। केवीके  दुर्ग छत्तीसगढ़ के मैदानी कृषि.जलवायु क्षेत्र के अंतर्गत आता है। कृषि विज्ञान केंद्र का उद्देश्य अनुसंधान संस्थानों में प्रौद्योगिकी के उत्पादन के बीच के समय के अंतराल को कम करना है और यह कृषि, कृषि और संबद्ध क्षेत्रों से निरंतर आधार पर उत्पादन उत्पादकता और आय बढ़ाने के लिए किसान के क्षेत्र में स्थानांतरण है।